Sometimes I’m very sorry

I am a human being
And I make mistakes.
But then I apologize,
You know the courage it takes?

Sometimes I’m very sorry,
“Forgive me for God’s sake!”
Other times I admit it ‘coz
Our memories are at stake.

I can be a pain in ass.
Sometimes even head ache.
Although we’re not ductile enough
I’ll never let “us” break.
-Sudhanshu Chouhan

Toote dil ke tukde ab toh…

टूटे दिल के टुकड़े अब तो
पैरों चुभने लगे हैं
उड़ती धुल के संग आँखों में
आंसू बनने लगे हैं…
खुद भी रूठा है मुझसे
दोनों जहां रुसने लगे हैं
टूटे दिल के टुकड़े अब तो
पैरों चुभने लगे हैं…

खाली करूँ अब दिल को
या अश्कों को थाम लूँ
ज़िन्दगी ही बेवफ़ा मेरी
तुझको तो क्या इलज़ाम दूँ…
मेरे दर्द के पन्ने नये
खुद ही पलटने लगे हैं
टूटे दिल के टुकड़े अब तो
पैरों चुभने लगे हैं…

जाम बना हर शाम मैं एक
ये दर्द यूँ पि रहा हुँ
तुझे खबर भी न मेरी
कैसे मैं जी रहा हुँ…
तेरी वजह से मुझपे
अब लोग हसने लगे हैं
टूटे दिल के टुकड़े अब तो
पैरों चुभने लगे हैं…

– Sudhanshu Chouhan